पुलिस पर लगा महिलाओं से अभद्रता का आरोप, हुआ सड़क जाम

गिरिडीह। जिले के बेंगाबाद थाना क्षेत्र में साइबर अपराधियों की तलाश में पहुंची पुलिस और आरोपी के परिजनों के बीच जमकर नोकझोंक हुई. इसके बाद आरोपी युवक के परिजन और अन्य ग्रामीण सड़क पर उतर आए. ग्रामीणों ने बेंगाबाद पुलिस पर अभद्रता का आरोप लगाते हुए गिरीडीह-दुमका एनएच 114 ए को डाकबंगला चौक पर जाम कर दिया. इस दौरान लगभग दो घंटे तक जाम लगा रहा. मौके पर पुलिस इंस्पेक्टर कमलेश पासवान के पहुंचने के बाद मामला शांत हुआ. इंस्पेक्टर के आश्वासन के बाद लोग शांत हुए और जाम खोला.

दरअसल, बेंगाबाद थाना क्षेत्र के जेरूआडीह पंचायत स्थित बुढियासारे गांव में रविवार रात पुलिस टीम पहुंची थी. बताया जा रहा है कि पुलिस करण मंडल के घर पहुंची और उसे तलाशने लगी. इसी बात को लेकर आरोपी युवक के परिजन और पुलिस बल के बीच नोकझोंक हो गई. मामले को लेकर आरोपी युवक के परिजनों का कहना है कि पुलिस टीम जबरन घर में घुस गई और लोगों के साथ मारपीट करने लगी. करण मंडल के परिजनों का आरोप है कि पुलिस टीम ने महिलाओं के साथ भी अभद्र व्यवहार किया. करण मंडल के बड़े भाई दिलीप मंडल एवं बुजुर्गों से भी मारपीट का आरोप लगाया. इधर पुलिस ने आरोपी के यहां से कंचन देवी एवं यमुना मंडल को हिरासत में ले लिया. साथ ही आरोपी के घर से दो बाइक एवं एक मोबाइल फोन जब्त कर लिया था.

कार्रवाई के विरोध में सड़क जाम

इससे नाराज परिजन एवं ग्रामीण सड़क पर उतर आए और पुलिस के वरीय अधिकारियों से इंसाफ की मांग करने लगे. ग्रामीणों के सड़क पर उतरने से जाम के हालात बन गए. बाद में इंस्पेक्टर कमलेश पासवान, स्थानीय मुखिया राजकुमार, प्रमुख पति सुनील यादव के प्रयास से जाम हटाया जा सका. इस बीच दो घंटे तक यातायात बाधित रहा. पंचायत के मुखिया राजकुमार ने कहा कि पुलिस और पब्लिक के बीच नोकझोंक हुई थी. जिसके बाद गिरफ्तार व्यक्ति की रिहाई एवं अन्य मांग को लेकर सड़क जाम कर दिया गया था. थाना प्रभारी के आश्वासन के बाद जाम हटा लिया गया.

पुलिस टीम पर पथराव किया गया- इंस्पेक्टर

इधर पूरे मामले को लेकर इंस्पेक्टर कमलेश पासवान ने बताया कि करण मंडल के घर पर कुछ असामाजिक तत्वों के होने की सूचना पुलिस को मिली थी. सूचना के आलोक में थाना प्रभारी प्रदीप कुमार के नेतृत्व में टीम जांच सत्यापन के लिए पहुंची थी. इसी दौरान घर वालों द्वारा विरोध करते हुए हो हंगामा किया जाने लगा. घरवालों ने पुलिस टीम पर पथराव भी किया. जिस कारण एक दो पुलिसकर्मी चोटिल हो गए. जिसके बाद पुलिस टीम द्वारा कार्रवाई करते हुए दो लोगों को हिरासत में लिया गया.

इंस्पेक्टर पासवान का कहना है कि करण मंडल पूर्व से ही साइबर अपराध में संलिप्त है और वह जेल भी जा चुका है. पुलिस टीम द्वारा किसी प्रकार की संवेदनहीनता नहीं की गई है. उन्होंने परिजनों द्वारा लगाए गए आरोप को बेबुनियाद बताया है. कहा कि इन्होंने हंगामा कर आरोपी को भगा दिया. इंस्पेक्टर कमलेश पासवान ने कहा कि मामले की जांच कर दोषियों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *