सरकार तुबेद कोयला खान प्रोजेक्ट के विस्थापितों के पुनर्वासन और पुनर्व्यवस्थापन कॉलोनी बनाने के लिए लेगी 10 एकड़ जमीन

रांची। तुबेद कोयला खान परियोजना, लातेहार के विस्थापितों के लिए सरकार ने पहल की है. उनके लिये पुनर्वासन और पुनर्व्यवस्थापन कॉलोनी बसायी जायेगी. इसके लिए नावाडीह गांव (थाना नं 316, अंचल-लातेहार, लातेहार) में 10.32 एकड़ जमीन पर काम होगा. लातेहार डीसी कार्यालय की ओर से जारी अधिघोषणा के मुताबिक नावाडीह गांव के खाता संख्या 4, 8, 12, 13 और 14 की कुल 10.32 एकड़ रैयती जमीन पर कॉलोनी का निर्माण होना है. इस जमीन के हितबद्ध व्यक्तियों के नाम हैं- अतीक मियां, इसराइल मियां, समीन खातून, मुसर्रत प्रवीण, रुमाणा प्रवीण, अतीत मियां, विक्रम कुमार, सचितानंद राय, सहदेव प्रसाद, जोगेश अधिकारी, जेके बेल्योरिया, धनंजय सिंह, पुरुषोत्तम नारायण, रमजान मियां, हमीरा खातून और अन्य.

लातेहार डीसी की ओऱ से जानकारी देते हुए कहा गया है कि चिह्नित जमीन (10.32 एकड़) के लिए हितबद्ध व्यक्तियों की आपत्तियां सुनी जा चुकी हैं. इस जमीन के लिए भूमि योजना का निरीक्षण जिला भू-अर्जन पदाधिकारी, लातेहार के कार्यालय में किसी भी कार्य दिवस के दिन किया जा सकता है.

इस राशि में ब्याज और अन्य भी शामिल है. वैसे रैयत जिन्होंने अपनी जमीन को 17.10.2016 से से पूर्व में तुबेद कोल माइंस लिमिटेड को बेच दिया था, उन्हें निर्धारित मुआवजा राशि का पूर्व में प्राप्त की गयी राशि के अंतर के आधार पर मुआवजा के रुप में प्रदान किया जायेगा. प्रोजेक्ट क्षेत्र में रैयती भूमि पर वृक्षों का संबंधित जिला प्रशासन या विभाग द्वारा मूल्यांकन के पश्चात रैयत को मुआवजा मिलेगा.

प्रोजेक्ट क्षेत्र में मकान से विस्थापित मूल परिवार एवं अनुपरिवारों को पीएम आवास (ग्रामीण) के मकान में एक अतिरिक्त कमरा जोड़ते हुए 700 वर्गफीट भूमि पर पक्का मकान दिए जाने का प्रावधान है. प्रत्येक एकल परिवार जिसमें अतिरिक्त बालिग सदस्य के रुप में अनुपरिवार नहीं होंगे, उन्हें 10 डिसमिल आर एंड आर कॉलोनी के परिसर में आवासीय भूमि निःशुल्क आवंटित की जायेगी.

वैसे परिवार जिनकी एक एकड़ या उससे कम भूमि का अधिग्रहण डीवीसी के द्रवारा किया जा रहा है, उनमें प्रत्येक अनुपरिवार को 5 हजार रुपये प्रतिमाह वार्षिकी के तौर पर 20 वर्षों तक दिया जायेगा. 1 एकड़ से अधिक जमीन होने पर 6 हजार रुपये प्रतिमाह 20 सालों तक दिए जायेंगे. मकान से विस्थापित होने वाले प्रत्येक प्रभावित परिवार को पुनर्व्यवस्थापन भत्ता के रुप में एकमुश्त 50 हजार रुपये मिलेंगे. पुनर्वास एवं पुनर्व्यवस्थापन कॉलोनी में पक्की सड़क, लातेहार नवादा मुख्य सड़क से जोड़ने वाली बारहमासी सड़क का निर्माण होगा. उचित मूल्य की दुकान, स्वच्छ पेयजल, जल निकासी, हॉस्पिटल, हर घर में शौचालय, प्ले एरिया, हर घर में बिजली सहित अन्य सुविधाएं दी जायेंगी.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *