कीव की इमारत पर मिसाइल से हमला

झारखण्ड उजाला , ब्यूरो : रूसी सैनिकों ने यूक्रेन की राजधानी कीव पर हमला शुरू कर दिया है. युद्ध के तीसरे दिन धमाकों की आवाज सुनाई दे रही है. रूस की इस कार्रवाई से यूरोप में व्यापक युद्ध की आशंका पैदा हो गई है वहीं उसे रोकने के लिए दुनियाभर के देश प्रयास में हैं. जानें पल-पल का अपडेट यहां

कीव की इमारत पर मिसाइल से हमला 

कीव से एक वीडियो सामने आया है जिसमें नजर आ रहा है कि एक गगनचुंबी इमारत को मिसाइल से ध्‍वस्‍त कर दिया गया. वीडियो बीएनओ न्‍यूज ने जारी किया है.

पहली फ्लाइट रोमानिया पहुंची

एयर इंडिया की दूसरी फ्लाइट ने बुखारेस्ट के लिए उड़ान भर दी है. यूक्रेन में फंसे भारतीय को लाने के लिए एयर इंडिया की दूसरी फ्लाइट दिल्ली से बुखारेस्ट (रोमानिया) के लिए उड़ी है. सुबह वाली पहली फ्लाइट रोमानिया पहुंच चुकी है.

पुतिन का युद्ध : जर्मन राजदूत

यूक्रेन संकट पर भारत में जर्मन राजदूत वाल्टर जे लिंडनर ने कहा है कि यह पुतिन द्वारा छेड़ा गया युद्ध है. यह शर्म की बात है, ऐसा हो रहा है.

कीव एयरपोर्ट पर बड़े धमाके की आवाज

कीव एयरपोर्ट पर बड़े धमाके की आवाज सुनी गई है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार धमाके से आसपास के इमारतों को भारी नुकसान पहुंचा है.

कोनोटॉप में रूसी एयरक्राफ्ट ने किये धमाके

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कोनोटॉप में रूसी एयरक्राफ्ट ने दो धमाके किए हैं जिससे पूरा इलाका थर्रा गया. ऐसी आशंका है कि खारकीव एयरपोर्ट पर भी रूस हमला कर सकता है.

भारतीय वायु सेना ने ब्रिटेन में बहुपक्षीय अभ्यास में विमान न भेजने का फैसला किया

भारतीय वायु सेना ने यूक्रेन में संकट से पैदा हुई स्थिति को देखते हुए अगले महीने ब्रिटेन में होने वाले बहुपक्षीय हवाई अभ्यास में अपना विमान तैनात न करने का फैसला किया है.‘कोबरा वॉरियर’ नाम का यह अभ्यास ब्रिटेन के वडिंगटन में छह से 27 मार्च तक होना है.

यूक्रेन के राष्‍ट्रपति जेलेंस्‍की ने अमेरिका का ऑफर ठुकराया

यूक्रेन के राष्‍ट्रपति जेलेंस्‍की ने अमेरिका का ऑफर ठुकरा दिया है. अमेरिका ने उन्हें कीव से निकालने का प्रस्‍ताव दिया था. जेलेंस्‍की ने कहा है कि हमें हथियार चाहिए. सवारी नहीं…

भारतीय दूतावास के परामर्श में क्‍या

यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने परामर्श जारी कर कहा है कि सीमा जांच चौकियों पर स्थिति संवेदनशील हैं. भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए पड़ोसी देशों में हमारे दूतावासों के साथ काम कर रहे हैं. यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने भारतीय नागरिकों से उसके अधिकारियों के साथ पूर्व समन्वय के बिना सीमा चौकियों पर नहीं जाने को कहा है.

1000 से ज्यादा रूसी सैनिक को ढेर

यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा है कि तीन दिनों के युद्ध में उनके 137 वीरों की जान चली गई है. इनमें 10 सैन्य अधिकारी शामिल हैं. यूक्रेन की सेना ने दावा किया है कि उन्होंने 1000 से ज्यादा रूसी सैनिकों को ढेर कर दिया है.

यूक्रेन में फंसे भारतीयों को लाया जाएगा वापस

यूक्रेन(Ukraine) में फंसे भारतीयों को वहां से निकालने के लिए भारतीय सरकार एक्टिव मोड में नजर आ रही है. जानकारी के अनुसार शनिवार तड़के यूक्रेन के बुखारेस्ट के लिए मुंबई से एक फ्लाइट ने उड़ान भर दी है. इससे वहां फंस भारतीय युद्ध के भयावह हालातों के बीच से निकलकर भारत आ जाएंगे.

60 रूसी सैनिक मार गिराने का यूक्रेन ने किया दावा

यूक्रेन की सेना की ओर से कहा गया है कि हमले के दूसरे दिन यानी 25 फरवरी को कीव(Kiev) यूक्रेन की राजधानी में 60 रूसी सैनिकों को मार डाला गया है. यूक्रेन का दावा है कि 37 हजार लोगों के शहर Vasylkiv में रूसी पैराट्रूपर्स(Paratroopers) ने हमला करने का काम किया जिसका करारा जवाब दिया गया.

रूस-यूक्रेन युद्ध: भारत ने मतदान में हिस्सा नहीं लिया

भारत ने रूस के ‘आक्रामक बर्ताव’ की निंदा करने वाले और यूक्रेन से ‘तत्काल एवं बिना शर्त के’ बलों को वापस बुलाने की मांग करने वाले संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव पर हुए मतदान में हिस्सा नहीं लिया.

रूस ने वीटो पावर का यूज किया

रूस ने यूक्रेन पर हमला रोकने, सेना को वापस बुलाने की मांग वाले संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव पर वीटो पावर(Veto Power)का यूज किया.

रूस के जंगी जहाज को मार गिराने का यूक्रेन ने किया दावा

यूक्रेन ने रूस का एक जंगी जहाज मार गिराने का दावा किया है. यूक्रेन की ओर से कहा गया है कि जंगी जहाज में भारी संख्या मे रूसी सैनिक तैनात थे. हालांकि इस बात की रूस की ओर से पुष्टि अब तक नहीं की गई है.

रूस-यूक्रेन: गोलीबारी और विस्फोटों की घटनाएं

युद्ध से सैकड़ों लोगों के हताहत होने की सूचनाओं के बीच कीव में इमारतों, पुलों और स्कूलों के सामने भी गोलीबारी और विस्फोटों की घटनाएं हुई हैं. इस बात के भी संकेत बढ़ रहे थे कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यूक्रेन की मौजूदा सरकार को उखाड़ फेंकने की कोशिश कर रहे हैं. दुनिया के नक्शे में बदलाव करने और रूस के शीतयुद्ध कालीन प्रभाव को बहाल करने के लिए यह पुतिन का अभी तक का सबसे बड़ा कदम है.

स्पष्ट नहीं कि यूक्रेन का कितना हिस्सा अब भी उसके कब्जे में

इस युद्ध में अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि यूक्रेन का कितना हिस्सा अब भी उसके कब्जे में है और कितने हिस्से पर रूस का नियंत्रण हो गया है. इस बीच क्रेमलिन ने बातचीत करने की कीव की पेशकश स्वीकार कर ली लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि यह युद्ध से जूझ रहे यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की (Volodymyr Zelenskyy) के प्रति नरमी दिखाते हुए किया जा रहा है, ना की मामले का कूटनीतिक हल निकालने के लिए.

रूस-यूक्रेन: पश्चिमी देशों आपातकालीन बैठक

पश्चिमी देशों (Western Countries) के नेताओं ने आपातकालीन बैठक बुलाई है और यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने ऐसे हमलों को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय मदद की गुहार लगाई है क्योंकि उन्हें आशंका है कि रूस लोकतांत्रिक रूप से चुनी गई उनकी सरकार को बेदखल कर सकता है. यूक्रेन में बड़े पैमाने पर लोग हताहत हो सकते हैं और वैश्विक अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा सकता है.

रूस-यूक्रेन युद्ध: दूसरा दिन यूक्रेन की राजधानी पर केंद्रित था

रूस के आक्रमण का दूसरा दिन यूक्रेन की राजधानी पर केंद्रित था, जहां ‘एसोसिएटेड प्रेस’ के पत्रकारों ने विस्फोट की आवाजें सुनीं और कई क्षेत्रों से गोलियां चलने की सूचना भी है. यूक्रेन के खिलाफ बड़े सैन्य अभियान की घोषणा करते हुए पुतिन ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निंदा एवं प्रतिबंधों को नजरंदाज किया है और अन्य देशों को चेतावनी दी कि रूसी कार्रवाई में किसी प्रकार के हस्तक्षेप के प्रयास के ऐसे परिणाम होंगे, जो उन्होंने कभी नहीं देखे होंगे.

मृतक संख्या को सत्यापित करना संभव नहीं

रूसी सेना ने कहा कि उसने कीव के बाहर एक रणनीतिक हवाई अड्डे और पश्चिम में एक शहर पर नियंत्रण कर लिया है. यूक्रेनी अधिकारियों ने यूक्रेन की ओर कम से कम 137 लोगों की मौत की सूचना शुक्रवार को दी और सैकड़ों रूसी सैनिकों के मारे जाने का दावा किया. रूसी अधिकारियों ने हताहतों का कोई आंकड़ा जारी नहीं किया है. फिलहाल मृतक संख्या को सत्यापित करना संभव नहीं हो सका है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published.