यूक्रेन में फंसी झारखंड की छात्रा ने कॉल पर की बात , घर वाले बेहाल

यूक्रेन की राजधानी कीव में देवघर की रहने वाली मेडिकल की छात्रा ब्यूटी कुमारी भी फंसी हुई हैं. ब्यूटी ने फोन पर बातचीत में अपने परिजनों को बताया कि वह सुरक्षित है. उनके साथ यूपी स्थित मोरादाबाद की मरियम भी है.

झारखण्ड उजाला, ब्यूरो : यूक्रेन की राजधानी कीव यूक्रेन में पढ़ाई करने गयीं रांची की तीन छात्राओं समेत झारखंड के एक दर्जन से अधिक विद्यार्थियों के फंसे होने की सूचना है. इनमें रांची के चान्हो के तीन, गढ़वा से दो, कोडरमा से एक, लोहरदगा से एक, पलामू से एक, लातेहार के दो और देवघर से एक विद्यार्थी के अलावा अन्य शामिल हैं. यूक्रेन की राजधानी कीव में देवघर की रहने वाली मेडिकल की छात्रा ब्यूटी कुमारी भी फंसी हुई हैं. ब्यूटी कीव स्थित बोगोमोलेट्स नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी में फर्स्ट इयर की छात्रा हैं. इन्होंने अपने परिजनों से बात कर पीड़ा साझा किया. इनके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है.

वीडियो कॉल से हुई बात

यूक्रेन की राजधानी कीव में देवघर की रहने वाली मेडिकल की छात्रा ब्यूटी कुमारी भी फंसी हुई हैं. ब्यूटी ने फोन पर बातचीत में अपने परिजनों को बताया कि वह सुरक्षित है. उनके साथ यूपी स्थित मोरादाबाद की मरियम भी है. वे किसी तरह अपने घर वापस लौटना चाहती हैं. यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद ब्यूटी के परिजन खासकर मां का रो-रोकर बुरा हाल है. पिता पूर्व विधायक सह भाजपा नेता राजकिशोर प्रसाद उर्फ पप्पू यादव ने बताया कि लगातार बेटी से बात हो रही है. वीडियो कॉल के जरिए उनकी बात हुई है. बेटी और उसके साथ की छात्राएं सुरक्षित हैं.

घर लाने का दो बार किया प्रयास

ब्यूटी के पिता ने बताया कि अपनी बिटिया को घर लाने का उन्होंने दो बार प्रयास किया. एक बार 26 को इंडियन एयरलाइंस की फ्लाइट का टिकट करवाया, लेकिन युद्ध शुरू हो जाने के कारण फ्लाइट नहीं जा सकी. दूसरी बार एयर अस्ताना कजाकिस्तान से होकर टिकट करवाया, लेकिन वो भी कैंसिल हो गया. वे सभी चिंतित हैं, लेकिन राहत की बात है कि समाचार चैनलों में खबर आयी है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने भारतीयों को सुरक्षित वापस लाने के लिए रूस के राष्ट्रपति पुतिन से बात की है. आशा है कि अब सभी छात्र-छात्राएं व भारतीय सकुशल वापस आ जायेंगे.

राज्य के फंसे लोगों के लिए खुला कंट्रोल रूम

यूक्रेन में फंसे झारखंड के लोगों के लिए राज्य सरकार ने कंट्रोल रूम खोला है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने लोगों से अपील की है कि वहां फंसे लोगों की सूचना कंट्रोल रूम को दें. उन्होंने कहा कि यूक्रेन में पढ़ने या रोजगार के लिए गये झारखंड के लोगों और उनके परिजनों से अपील है कि वह झारखंड कंट्रोल रूम के दिये गये नंबरों पर संपर्क कर जानकारी दें. राज्य सरकार द्वारा भारत सरकार के साथ मिलकर सबको हर संभव मदद दी जा रही है.

कंट्रोल रूम के इन नंबरों पर कर सकते हैं संपर्क

0651-2481055, 0651-2480058 0651-2480083, 0651-2482052 0651-2481037,0651-2481188

इन व्हाट्सएप नंबर पर भी कर सकते हैं संपर्क

9470132591, 9431336427, 9431336398, 9431336472, 9431336432

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published.