बंकर में छिपे हैं जेलेंस्की ? रूस की ओर से 500 से अधिक मिसाइलें दागी गई

झारखण्ड उजाला , ब्यूरो : यूक्रेन की द कीव इंडिपेंडेंट की मानें तो इस सप्‍ताह रूस की ओर से 500 से अधिक मिसाइलें दागी गईं हैं. पेंटागन के एक अधिकारी ने कहा कि रूस प्रतिदिन लगभग 24 मिसाइल दाग रहा है. वह सभी तरह के मिसाइल को यूक्रेन के खिलाफ इस्‍तेमाल कर रहा है.

स्पेशल फ्लाइट दिल्ली एयरपोर्ट पहुंची

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को लेकर एक स्पेशल फ्लाइट दिल्ली एयरपोर्ट पहुंची. एक छात्रा ने बताया कि हमारे लिए वहां रहना बहुत कठिन था, हम भारत सरकार का धन्यवाद करते हैं कि उन्होंने हमें वहां से निकालकर यहां वापस लाए. वापस आकर हम बहुत खुश हैं.

रूसी सेना ने ओडेसा में पुल किया ध्‍वस्‍त

यूक्रेन पर रूसी सेना का हमला जारी है. एक बड़ी खबर आ रही है. रूसी सेना ने यूक्रेन के शहर ओडेसा में एक पुल को उड़ा दिया है.

चुनिंदा ठिकानों पर ड्रोन से हमला

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चुनिंदा ठिकानों पर रूस ड्रोन से हमला कर रहा है. इस बीच खबर आ रही है कि आज या कल तीसरे दौर की बात भी रूस और यूक्रेन के बीच हो सकती है.जेलेंस्की के ऑफिस के प्रमुख सलाहकार ने कहा कि दोनों देशों के बीच एक बार फिर से वार्ता होगी.

बंकर में छिपे हो सकते हैं राष्ट्रपति जेलेंस्की

यूक्रेन के पूर्व प्रधानमंत्री अजारोव का बयान सामने आया है. उन्होंने कहा है कि राष्ट्रपति जेलेंस्की कीव के केंद्र में स्थित एक बंकर में हो सकते हैं. ये बंकर इतना मजबूत है कि इस पर परमाणु हमले का भी असर नहीं होगा.

यूक्रेन के राष्‍ट्रपति भवन पर रॉकेट से हमला

मारियोपूल शहर पर रूस की घेराबंदी कर रहा है. इस बीच खबर आ रही है कि यूक्रेन के राष्‍ट्रपति भवन पर हमला किया गया है. राष्‍ट्रपति जेलेंस्‍की ने कहा कि मेरी हत्या को लेकर प्‍लान बनाया जा रहा है. राष्‍ट्रपति भवन पर रॉकेट से हमला करने की खबर को लेकर राष्‍ट्रपति जेलेंस्‍की ने कहा कि रूस मुझे मरवाना चाहता है. रॉकेट का टुकड़ा राष्‍ट्रपति भवन के करीब मिला है.

रूसी सेना पर ‘फर्जी खबर’ को लेकर बना कानून

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने सेना पर ‘फर्जी खबर’ के लिए कानून बनाया है. ‘फर्जी खबर’ फैलाने पर जेल की सजा के प्रावधान वाले कानून पर पुतिन ने हस्ताक्षर किये हैं. इसके तहत अब इस मामले के आरोपी को 15 साल तक की जेल की सजा होगी.

जेलेंस्की ने की नाटो की निंदा

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने यूक्रेन को नो-फ्लाई ज़ोन से बाहर निकलने के NATO के फैसले से दुखी हैं. उन्होंने इस फैसले की निंदा की है.

खारकीव में सुनी गईं धमाके की आवाज

युद्ध के दसवें दिन यूक्रेन से बड़ी खबर ये आ रही है कि ईस्टर्न पार्ट खारकीव में कई धमाकों की आवाज सुनी गई है. यूक्रेन मीडिया ने दावा किया है कि आज सुबह धमाकों की आवाज सुनी गई. स्थानीय निवासियों को पास के मेट्रो शेल्टर या बंकर में रहने की चेतावनी दी गई है.

जपोरिजिया न्यूक्लियर पावर प्लांट (परमाणु ऊर्जा संयंत्र) में आग

यूक्रेन पर हमले के नौवें दिन शुक्रवार को रूस की सेना और आक्रामक हो गयी. रूसी सेना यूक्रेन को समुद्र मार्ग से काटने की कोशिश में नीपर नदी पर बसे ने एनेर्होदर शहर पर जम कर बमबारी की. इसी दौरान जपोरिजिया न्यूक्लियर पावर प्लांट (परमाणु ऊर्जा संयंत्र) में आग लग गयी. यूरोप के सबसे बड़े इस न्यूक्लियर पावर प्लांट में लगी आग पर दमकल कर्मियों ने काबू पा लिया है. यूक्रेन के अधिकारियों ने कहा कि रूसी सैनिकों ने प्लांट पर कब्जा कर लिया है.

प्लांट यूक्रेन के नियंत्रण में

अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी के महानिदेशक राफेल मारियानो ग्रॉसी का कहना है कि प्लांट यूक्रेन के नियंत्रण में है. संयंत्र को हुए नुकसान को लेकर अलग-अलग तरह की खबरों के बीच ग्रॉसी ने स्पष्ट किया कि आग सिर्फ प्लांट के प्रशिक्षण केंद्र में लगी. इससे पहले प्लांट के प्रवक्ता एन्ड्री तुज ने कहा था कि गोले सीधे प्लांट पर गिरे, जिससे छह रिएक्टर में से एक में आग लग गयी. हालांकि, यह रिएक्टर निष्क्रिय था. प्लांट से विकिरण फैलने के खतरे के बीच कई परमाणु अधिकारियों ने कहा कि चिंता की बात नहीं है. इस बीच, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की से इस मसले पर चर्चा की.

रूसी मीडिया का दावा- जेलेंस्की देश छोड़ गये पोलैंड यूक्रेन ने किया खारिज, कहा- राजधानी कीव में हैं मौजूद

रूस की सरकारी मीडिया हाउस स्पूतनिक ने दावा किया कि यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की देश छोड़ चुके हैं. इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जेलेंस्की पोलैंड चले गये हैं. हालांकि, रूसी मीडिया के इस दावे को यूक्रेन ने खारिज कर दिया है. यूक्रेन ने कहा कि जेलेंस्की राजधानी कीव में ही हैं. इस बीच, भारत ने पूर्वी यूक्रेन में रूस और यूक्रेन के सैनिकों के बीच स्थानीय संघर्ष विराम का आग्रह किया है. दक्षिणी यूक्रेन के एनेर्होदर शहर में जपोरिजिया न्यूक्लियर प्लांट है. देश का एक चौथाई बिजली उत्पादन यहीं होता है.

रूस के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में प्रस्ताव पारित , भारत समेत 13 देश मतदान से रहे दूर

यूक्रेन में मानवाधिकार उल्लंघनों की जांच के लिए एक स्वतंत्र अंतरराष्ट्रीय जांच आयोग गठित करने पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में शुक्रवार को हुए मतदान में भारत समेत 13 देशों ने हिस्सा नहीं लिया. 47 सदस्यीय परिषद में पक्ष में 32 मत पड़े, जबकि दो वोट खिलाफ में पड़े. प्रस्ताव पारित हो गया. भारत ने सुरक्षा परिषद व संरा महासभा में भी रूस के खिलाफ निंदा प्रस्ताव में हिस्सा नहीं लिया था.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published.