बिषाही गढ़ा से बरामद युवक-युवती के अधजले शवों की शिनाख्त कराने में पुलिस कामयाब

सेन्हा/लोहरदगा। सेन्हा थाना क्षेत्र के उगरा के जंगलों में स्थित बिषाही गढ़ा से बरामद युवक-युवती के अधजले शवों की शिनाख्त कराने में पुलिस कामयाब हुई है। मृतक युवक की पहचान उगरा कटहर टोली निवासी सीताराम महली के 27 वर्षीय पुत्र प्रताप महली के रूप में, जबकि मृतका युवती की पहचान लोहरदगा थाना अंतर्गत कुरसे निवासी विरेन्द्र उराँव की 19 वर्षीय पुत्री सुशांति देवी के रूप में पहचान हुई है। अब पुलिस अब हत्या की गुत्थी सुलझाने में लगी है। फिलहाल पुलिस ने युवक एवं युवती के अधजले शवों को पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया है। बताया गया कि पुलिस द्वारा मृतक व मृतका के परिजनों के अलावे युवती की ससुराल वालों सेन्हा थाना क्षेत्र के मुर्की निवासी धुडू उरांव के पुत्र लक्ष्मण उरांव एवं उसके परिजनों से से भी पूछताछ कर गुत्थी सुलझाने की कोशिश की जा रही है।
उल्लेखनीय है कि बीते रात उगरा के जंगलों में बिसाही गढ़ा के समीप अज्ञात युवक-युवती के अधजली शव होने की सूचना पर पुलिस कप्तान आर रामकुमार के निर्देशानुसार रात में ही डीएसपी मुख्यालय परमेश्वर प्रसाद अंचलाधिकारी विजय कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी अशोक कुमार चोपड़ा के नेतृत्व में सेन्हा थाना प्रभारी सूरज प्रसाद एवं सशस्त्र बल के जवानों घटना स्थल पर पहुंच पंचनामा के उपरांत शवों को कब्जे में लेकर सेन्हा थाना ले आई। बताया गया कि शवों को एक के उपर एक रखकर नष्ट करने की कोशिश की गई थी। शव मिलने के उपरांत पुलिस-प्रशासन की टीम को घटना स्थल से महज 200 मीटर की दूरी पर एक घर के समीप से दो मोबाइल फोन एक ग्लेमर मोटरसाइकिल नंबर जेएच 08ई-9092 बरामद हुई है। जो शवों की शिनाख्त और पुलिस अनुसंधान में काफी सहायक साबित हुआ। शवों की शिनाख्त के उपरांत बुधवार को पोस्टमार्टम हेतु सदर अस्पताल लोहरदगा भेज दिया गया है। पुलिस अनुसंधान के क्रम में मृतक के पिता सीताराम महली ने बताया कि मेरा बेटा प्रताप महली रविवार को शाम करीब 5:00 बजे अपनी फुआ सीता देवी के घर जुरिया जाने की बात बोल कर निकला था। वहीं अपने दादी से मेढो घूमने जाने की बात बोला था। जिसकी जानकारी होते ही फोन से संपर्क कर पूछने पर बताया कि मेढो मेहमानी रुक रहें हैं। मेहमानी रुकने की बात पर उसे घर आने को बोला गया, तो दिमाग खराब मत करो कहकर फोन काट दिया और मोबाइल बन्द कर दिया गया। उसके बाद से संपर्क नही हुआ। जबकि अनुसंधान में यह बात सामने आई है कि युवती का विवाह एक वर्ष पूर्व सेन्हा थाना क्षेत्र के मुर्की निवासी धुडू उरांव के पुत्र लक्ष्मण उरांव के साथ हुआ था। पिछले तीन माह से युवती सोस गनेशपुर जिला रांची में अपने फुआ के घर रह कर सिलाई कढ़ाई का प्रशिक्षण ले रही थी। बहरहाल इस घटना के पीछे प्रेम प्रसंग का मामला है, या आपसी रंजिश, इसमें कौन-कौन लोग शामिल हैं, जिसका खुलासा होना बाकी है। इस पूरे घटना की गुत्थी सुलझाने में पुलिस महकमे के आलाधिकारी सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है।

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published.